अध्याय: 15 तरंगें

1. वायु में ध्वनि की चाल N. T. P. पर 300 मी/से है। यदि वायुदाब बढकर चार गुना हो जाये तो ध्वनि की चाल होगी ।

  • 150 मी/से
  • 300 मी/से
  • 600 मी/से
  • 120 मी/से
उत्तर
300 मी/से

2. एक ध्वनि स्रोत तथा श्रोता दोनों एक-दूसरे की ओर एकसमान चाल u से गति कर रहे हैं। यदि श्रोता को सुनाई पड़ने वाली आवृत्ति, वास्तविक आवृत्ति की दोगुनी हो, तो ध्वनि की चाल है।

  • 3v
  • 2u
  • u
  • u/ 2
उत्तर
2u

3. ध्वनि की चाल अधिकतम है।

  • वायु में
  • जल में
  • निर्वात् में
  • स्टील (इस्पात) मे
उत्तर
स्टील (इस्पात) मे

4. एक ध्वनि-स्रोत, श्रोता से दूर जा रहा है। श्रोता को स्रोत की वास्तविक आवृत्ति की 25% से कम की ध्वनि आवृत्ति प्रतीत होती है। यदि ध्वनि की चाल υ है, तो स्रोत की चाल है।

  • υ / 4
  • υ / 3
  •  4υ
उत्तर

5. जब ध्वनि तरंगें किसी गैसीय माध्यम से चलती हैं तो माध्यम के किसी बिन्दु पर प्रक्रिया होती है ।

  • समतापी
  • समदाबी
  • रुद्धोष्म
  • समआयतनिक
उत्तर
रुद्धोष्म

6. ध्वनि का तारत्व निर्भर करता है।

  • ध्वनि की तीव्रता पर
  • ध्वनि की आवृत्ति पर
  • तरंग रूप पर
  • तीव्रता तथा तरंग रूप पर
उत्तर
ध्वनि की आवृत्ति पर

7. निम्नलिखित में से कौन-सी सांगीतिक विशेषता नहीं है?

  • तारत्व
  • प्रबलता
  • गुणवत्ता
  • तीव्रता
उत्तर
तीव्रता

8.सांगीतिक ध्वनि की गुणवत्ता निर्भर करती है।

  • आवृत्ति पर
  • आयाम पर
  • तरंग वेग पर
  • संनादियों की संख्या पर
उत्तर
संनादियों की संख्या पर

9. किसी व्यक्ति की आवाज पहचानी जाती है उसकी-

  • प्रबलता से
  • तारत्व से
  • गुणता से
  • स्वर-अन्तराल से
उत्तर
गुणता से

10. जब श्रोता किसी स्थिर स्रोत से दूर जा रहा होता है तो सुने गए स्वर की आवृत्ति वास्तविक आवृत्ति से होती है।

  • अधिक
  • कम
  • बराबर
  • इनमें से कोई नहीं
उत्तर
कम

Leave a Comment