अध्याय 1: विधुत आवेश तथा क्षेत्र

1 . विद्युत् द्वि-ध्रुव आघूर्ण का S.I. मात्रक होता है।

  • कूलम्ब × मी०
  • कूलम्ब ⁄ मी०
  • कूलम्ब-मी०2
  • कूलम्ब’ x मीटर
उत्तर
कूलम्ब × मी०

2. विद्युत् क्षेत्र की तीव्रता की विमा है?

  • [MLT-2 A-1]
  • [MLT-3A-1]
  • [ML2T-3A]
  • [ML2T 2A2]
उत्तर
[MLT-2 A-1]

3. निम्नलिखित में कौन सदिश राशि है?

  • आवेश
  • धारिता
  • विद्युत्-तीव्रता का
  • इनमें से कोई नहीं
उत्तर
विद्युत्-तीव्रता का

4. विद्युत आवेश का SI मात्रक क्या है?

  • कूलॉम
  • वोल्ट
  • एम्पियर
  • विभवांतर
उत्तर
कूलॉम

5. जब किसी वस्तु को आवेशित किया जाता है, तो उसका द्रव्यमान –

  • बढ़ता है
  • घटता है
  • अचर रहता है
  • बढ़ या घट सकता है
उत्तर
बढ़ या घट सकता है

6. किसी वस्तु पर आवेश की न्यूनतम मात्रा कम नहीं हो सकती है?

  • 1.6 x 10-19 कूलम्ब से
  • 3.2 x 10-19 कूलम्ब से
  • 4.8 x 10-19 कूलम्ब से
  • 1 कूलम्ब से
उत्तर
1.6 x 10-19 कूलम्ब से

7. डिबाई मात्रक है?

  • आवेश का
  • विभव का
  • विद्युत द्विध्रुव आघूर्ण का
  • कोई नहीं
उत्तर
विद्युत द्विध्रुव आघूर्ण का

8. विद्युत् क्षेत्र की तीव्रता का मात्रक होता है?

  • न्यूटन/कूलम्ब (NC)
  • न्यूटन/कूलम्ब (NC-1)
  • वोल्ट/मी० (Vm)
  • कूलम्ब/न्यूटन (CN-1)
उत्तर
न्यूटन/कूलम्ब (NC-1)

9. विद्युत्-विभव का मात्रक वोल्ट है और यह तुल्य है?

  • जूल/कूलम्ब
  • जूल x कूलम्ब
  • कूलम्ब/जूल
  • इनमें से कोई नहीं
उत्तर
जूल/कूलम्ब

10. विद्युत आवेश का e.s.u. मात्रक में होता है?

  • 4.78 x 10⁻¹⁰
  • +1.6 x 10⁻¹⁹
  • 2.99 x 10⁹
  • -1.6 x 10¹⁹
उत्तर
4.78 x 10⁻¹⁰

11. किसी संधारित्र की धारिता का मात्रक होता है?

  • वोल्ट (V)
  • न्यूटन (N)
  • फैराड (F)
  • ऐम्पियर (A)
उत्तर
फैराड (F)

12. स्थिर विधुतीय क्षेत्र होता है?

  • संरक्षी
  • असंरक्षी
  • कहीं संरक्षी तथा कहीं असंरक्षी
  • इनमें से कोई नहीं
उत्तर
संरक्षी

13. एक आवेशित चालक की सतह के किसी बिन्दु पर विद्युतीय क्षेत्र की तीव्रता –

  • शून्य होती है
  • सतह के लंबवत् होती है
  • सतह के स्पर्शीय होती है
  • सतह पर 45° पर होती है
उत्तर
सतह के लंबवत् होती है

14. फ्लक्स घनत्व का मात्रक होता है –

  • वेबर
  • टेसला
  • न्यूटन / मी
  • मी2/से
उत्तर
टेसला

15. किसी वस्तु का परावैद्युत् स्थिरांक हमेशा अधिक होता है –

  • शून्य से
  • 0.5 से
  • 1 से
  • 7 से
उत्तर
1 से

16. आवेश का S.I. मात्रक होता है –

  • एम्पीयर (A)
  • फैराड (F)
  • वोल्ट (V)
  • कूलम्ब (C)
उत्तर
कूलम्ब (C)

17. जब किसी वस्तु को आवेशित किया जाता है, तो उसका द्रव्यमान –

  • बढ़ता है
  • घटता है
  • अचर रहता है
  • बढ़ या घट सकता है
उत्तर
बढ़ या घट सकता है

18. यदि गोले पर आवेश 10μC हो, तो उसकी सतह पर विद्युतीय फ्लक्स है

  • 36π x 104 Nm2/C
  • 36π x 10-4 Nm2/C
  • 36π x 106 Nm2/c
  • 36π x 10-6 Nm2/c
उत्तर
36π x 106 Nm2/c

19. एक विद्युत् द्वि-ध्रुव एक पृष्ठ से घिरा हुआ है। पृष्ठ पर कुल फ्लक्स होगा –

  • अनंत
  • शून्य
  • आवेश पर निर्भर
  • द्विध्रुव की स्थिति पर निर्भर
उत्तर
शून्य

20. जब कोई वस्तु ऋणावेशित हो जाती है तो इसका द्रव्यमान क्या होता है।

  • घटता है
  • बढ़ता है
  • वही रहता है
  • इनमें से कोई नहीं
उत्तर
बढ़ता है

3 thoughts on “अध्याय 1: विधुत आवेश तथा क्षेत्र”

Leave a Comment