अध्याय 5: वंशागति और विविधता के सिद्धांत

(1) जब कोई गुण एक से अधिक विपरीत जोड़ों (एलील) द्वारा संचालित होता है तो उसे कहते हैं।

  • बहुविकल्पता
  • बहुअण्डजता (पॉली इम्बियोनी)
  • अपूर्ण प्रभाविता
  • इनमें से कोई नहीं
View Answer
बहुविकल्पता

(2) इनमें से कौन यौन संबद्ध गुण है

  • वर्णांधता
  • रतौंधी
  • पूर्ण अन्धता
  • इनमें से कोई नहीं
View Answer
वर्णांधता

(3) हीमोफीलिया किस तरह की बीमारी है?

  • वंशागत रोग
  • अप्रभावी लक्षण
  • x – गुणसूत्र सहलग्न रोग
  • इनमें से सभी
View Answer
इनमें से सभी

(4) किसी परिवार की अनेक पीढ़ियों के लक्षणों का विश्लेषण कहलाता है?

  • वंशावली विश्लेषण
  • मेंडल विश्लेषण
  • पनेट विश्लेषण
  • इनमें से कोई नहीं
View Answer
वंशावली विश्लेषण

(5) क्रासिंग ओवर इनमें से किस अवस्था में होता है?

  • पैकीटिन
  • डिप्लोटिन
  • डायाकाईनेसिस
  • इनमें से कोई नहीं
View Answer
पैकीटिन

(6) मेंडल के प्रयोगों में विपरीत लक्षणों की जोड़ी को क्या कहते हैं?

  • जीन
  • फीनोटाइप
  • जीनोटाइप
  • ऐलील
View Answer
ऐलील

(7) Y-गुणसूत्र पर स्थित जीन्स है –

  • उत्परिवर्ती जीन्स
  • ऑटोसोमल जीन्स
  • होलेन्ड्रिक जीन्स
  • लिंग सहलग्न जीन
View Answer
लिंग सहलग्न जीन

(8) युग्मन एवं विकर्षण के सिद्धांत को किसने प्रतिपादित किया?

  • मॉर्गन
  • बेटेसन एवं पनेट
  • घुगो डि ब्रीज
  • मेंडल
View Answer
बेटेसन एवं पनेट

(9) मेंडल ने प्रस्तावित किया –

  • आनुवंशिकी के नियम
  • अर्जित गुणों की वंशागति
  • सहलग्नता के नियम
  • ऊर्जा का नियम
View Answer
आनुवंशिकी के नियम

(10) सम्बद्धता की खोज किसने की –

  • मेण्डेल ने
  • स्टेनली एवं मिलर ने
  • पन्ने ने
  • इनमें से कोई नहीं

 

View Answer
पन्ने ने

Leave a Comment