अध्याय 14: अर्धचालक इलेक्ट्रोनिकी

(1) प्रकाशीय तंतु संचरण में प्रकाश स्रोत के रूप में होता है?

  • जेनर डायोड
  • लेसर या प्रकाश उत्सर्जक डायाड
  • फोटो डायोड
  • सोडियम प्रकाश
उत्तर देखे
लेसर या प्रकाश उत्सर्जक डायाड

(2) ठोसों में बैण्ड संरचना की अभिव्यक्ति किस कारण होती है ?

  • हाइजनबर्ग के अनिश्चितता सिद्धांत के कारण
  • पाउली के अपवर्जन सिद्धांत के कारण
  • बोर के अनुरूपता सिद्धांत के कारण
  • बोल्ट्जमान नियम के कारण
उत्तर देखे

(3) एक प्रवर्धक का वोल्टेज लाभ 100 है । dB में वोल्टेज लाभ क्या होगा?

  • 20 dB
  • 40 dB
  • 30 dB
  • 50 dB
उत्तर देखे
40 dB

(4) उपग्रह संचारण में विद्युत चुम्बकीय तरंग का कौन सा भाग प्रयुक्त होता है?

  • प्रकाश तरंगें
  • रेडियो तरंगे
  • गामा किरणें
  • सूक्ष्म तरंगें
उत्तर देखे
सूक्ष्म तरंगें

(5) परम शून्य पर, Si किस रूप में कार्य करता है’?

  • धातु
  • अर्धचालक
  • विद्युतरोधी
  • इनमें से कोई नहीं
उत्तर देखे
\

(6) जेनर डायोड की नियमन (Regulation) क्रिया के दौरान क्या होता

  • श्रेणी प्रतिरोध (Rs) में धारा परिवर्तित होती है।
  • जेनर के द्वारा दिया गया प्रतिरोध परिवर्तित हो जाता है ।
  • जेनर प्रतिरोध नियत होता है।
  • (a) एवं (b) दोनों
उत्तर देखे
(a) एवं (b) दोनों

(7) माइक्रो-तरंगों की आवृत्ति होती है?

  • रेडियो आवृत्ति से अधिक
  • रेडियो आवृत्ति से कम
  • प्रकाश आवृत्ति से अधिक
  • श्रव्य आवृत्ति से कम
उत्तर देखे
रेडियो आवृत्ति से अधिक

(8) वाहक (रेडियो) तरंगों पर किसी सूचना के अध्यारोपण की प्रक्रिया का नाम है –

  • प्रेषण
  • मॉड्यूलेशन
  • डिमॉड्यूलेशन
  • ग्रहण
उत्तर देखे
मॉड्यूलेशन

(9) भू-तरंगों का ध्रुवण होता है पृथ्वी तल के –

  • किसी भी दिशा में
  • 60° के कोण पर
  • लम्बवत्
  • समान्तर
उत्तर देखे
लम्बवत्

(10) रेडियो एवं टेलिविजन प्रसारण में सूचना संकेत का रूप होता है?

  • डिजिटल सिग्नल
  • डिजिटल सिग्नल एवं एनालॉग सिग्नल
  • एनालॉग सिग्नल
  • इनमें से कोई नहीं

 

उत्तर देखे
एनालॉग सिग्नल

Leave a Comment